स्वास्थ्य
गाजियाबाद के हज हाउस को 'कोरोना आइसोलेशन सेंटर' बनाने की तैयारी में योगी सरकार
Total views 14347
400 बेड का आइसोलेशन सेंटर में जिला अस्पताल के डॉक्टरों की तैनाती की जाएगी.

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने कोरोना वायरस से निपटने के लिए हरसंभव प्रयास कर रही हैं. राज्य सरकार के स्वास्थ्य विभाग ने गाजियाबाद स्थित हज हाउस 500 बेड का आइसोलेशन सेंटर बनाने का निर्णय लिया है. इस सेंटर में कोरोना के संदिग्ध मरीजों को रखा जाएगा. आइसोलेशन सेंटर बनाने से पहले गाजियाबाद के एडीएम शैलेन्द्र सिंह ने बताया स्वास्थ्य विभाग आला हजरत हज हाउस में 400 बेड का करोना आइसोलेशन सेंटर तैयार किया जा रहा है. जहां विदेश से आने वाले लोगों को इस वार्ड में रख कर जांच की जाएगी. उन्होंने बताया कि वार्ड में इलाज के पर्याप्त संसाधन मौजूद होंगे. वहीं सीएमओ नरेंद्र कुमार गुप्ता ने बताया कि सेनेटाइजर ओर मास्क की ओवररेटिंग ओर कमी की शिकायत मिलने पर जांच और कार्यवाही के लिए टीम गठित की गई है. गाजियाबाद के अर्थला में बने इस आलीशान हज हाउस में कई बड़े कमरे हैं, जिसमें रहने की सभी मूलभूत सुविधाएं मौजूद हैं. राज्य सरकार के फैसले के बाद तैयार होने वाले 400 बेड का आइसोलेशन सेंटर में जिला अस्पताल के डॉक्टरों की तैनाती की जाएगी. अगले तीन से चार दिनों के अंदर यह सेंटर तैयार हो जाएगा. बता दें कि इस हज हाउस का निर्माण पूर्ववर्ती अखिलेश सरकार के दौरान किया गया था. इस हज हाउस को आजम खान के ड्रीम प्रोजक्ट्स में से एक माना जाता है. लगभग 54 करोड़ रुपए की लागत से बने इस हज हाउस में मुस्लिम समाज के लोग जब सऊदी अरब हज करने जाते हैं तो यहीं एकत्र होते हैं. यहां से सब वीजा लेकर आगे के लिए रवाना होते हैं.  2018 में योगी सरकार ने इसे सील कर दिया था. इससे पहले यूपी सरकार के स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह ने बताया कि सब कुछ अंडर कंट्रोल है. 820 बेड आईसोलेशन के लिए तैयार हैं. वहीं 7 मेडिकल कॉलेज भी तैयार कर दिए गए हैं. उन्होंने कहा कि आगरा मामले पर भी टीम पूरी जांच कर रही है. यूपी में अब तक 10 लाख ट्रैवेलर्स की जांच की जा चुकी है.

इस दौरान प्रमुख सचिव स्वास्थ्य ने बताया कि यूपी में अभी तक 175 लोगों के सैंपल लिए गए, जिनमें से 157 लोगों की टेस्ट रिपोर्ट निगेटिव आई है. 157 लोगों में कोई भी इंफेक्शन नहीं पाया गया. बचे हुए 18 केस में से 6 आगरा और एक गाजियाबाद के लोगों का सैंपल एनआईवी पुणे भेजा गया है. उन्होंने कहा कि दिल्ली में आगरा के 6 लोगों को भर्ती कराया गया है. आगरा के 66 लोगों को 24 घंटे के अंदर ट्रैक किया गया.